Monday, April 20, 2020

काल की विकराल की KAAL KI VIKRAL KI LYRICS - Anuradha Paudwal

Kaal Ki Vikral Ki Lyrics in Hindi, sung by Anuradha Paudwal. The Mahakaal Aarti lyrics written by Suraj Ujjaini and music created by Shekhar Sen.

Shiv Bhajan: Kaal Ki Vikral Ki Lyrics (Mahakaal Aarti)
Album: Suraj Ujjaini
Singer: Anuradha Paudwal
Lyrics: Suraj Ujjaini
Music: Shekhar Sen
Music Label: T-Series

Kaal Ki Vikral Ki Lyrics in Hindi



काल की विकराल की
त्रिलोकेश्वर त्रिकाल की
भोले शिव कृपाल की
करो रे मंगल आरती
मृत्यंजय महाकाल की
बाबा महाकाल की
ओ मेरे महाकाल की
करो रे मंगल आरती
मृत्यंजय महाकाल की

पित पुष्प बाघम्बर धारी
नंदी तेरी सवारी
त्रिपुण्डधारी हे त्रिपुरारी
भोले भव भयहारी
शम्भु दिन दयाल की
तीन लोक दिगपाल की
कैलाषी शशिभल की
करो रे मंगल आरती
मृत्यंजय महाकाल की

डमरू बाजे डम डम डम
नाचे शंकर भोला
बम भोले शिव बम बम बम
चढ़ भंग का गोला
जय जय हृदय विशाल की
आशुतोष प्रतिपाल की
नौना धक धक ज्वाला की
करो रे मंगल आरती
मृत्यंजय महाकाल की

आरती हरी पालनहारी
तू है मंगलकारी
मंगल आरती करे नर नारी
पाएं पदारथ चारी
कालरूप  महाकाल की
कृपासिंधु महाकाल की
उज्जैनी महाकाल की
करो रे मंगल आरती
मृत्यंजय महाकाल की

बाबा महाकाल की
ओ मेरे महाकाल की
करो रे मंगल आरती
मृत्यंजय महाकाल की


More Shiv Bhajan:
Mera Bhola Hai Bhandari
Om Jai Shiv Omkara 
Shiv Chalisa
Shiv Shankar Ko Jisne Pooja

Related Posts

काल की विकराल की KAAL KI VIKRAL KI LYRICS - Anuradha Paudwal
4/ 5
Oleh