धार्मिक अच्छे विचारों Dharmik Achche Vicharon

Dharmik Achche Vicharon

धार्मिक अच्छे विचारों Dharmik Achche Vicharon



अगर आप ईश्वर को खोजना चाहते है तो अपने विचारों के बीच छूटे हुए स्थान में देखिये.

बाहर का सुकून भीतर के परमात्मा को जानने से आता हैं.

हम भगवान से ये प्रार्थना करें की हमारे उपर कोई खतरे ना आये। बल्कि उनका सामना करने में हम हमेशा निडर रहें।

हर सुबह उठो और भगवान् का शुक्रिया करो जिसने एक और सुबह दी हैं।

भगवान सबके लिये समान हैं उसका कोई धर्म नहीं है।

हर क्रिया में भगवान का आभार माने फिर भगवान आपकी राह आसान कर देंगे।

जो मनुष्य धार्मिक हैं वह दुःख को सुख में बदलना जानता है।

इन्सान की धार्मिक वृत्ति ही उसकी सुरक्षा करती है।

ईश्वर हमारी परीक्षा लेते हैं और वो ही हमें उसमें सफ़ल होने का सामर्थ्य भी देते हैं।

ईश्वर हर वस्तु में है और सबके ऊपर भी।

व्यक्ति एवं समाज इन दोनों के लिये धर्म आवश्यक है।

यह जीवन प्रभु का अमूल्य वरदान हैं इसे व्यर्थ ना गवाओ।

अगर हमें भगवान में विश्वास हैं तो चाहे हम पहाड की छोटी से लडखडाये फिर भी भगवान हमें गिरने नहीं देंगे। या तो भगवान हमें अपनी बाहों में थाम लेंगे या फिर उड़ने के लिए पंख दे देंगे।

धार्मिक अनमोल विचार | Religious Quotes in Hindi

धर्मरहित विज्ञान लंगडा है, और विज्ञान रहित धर्म अंधा।

प्रार्थना करो ना केवल इसलियें की आपकों कुछ जरुरत हैं, पर इसलिए की आप शुक्रगुजार हैं जो कुछ आपके पास हैं।

कहा जाता हैं की धर्म के बिना मनुष्य लगाम के बिना घोड़े के जैसा होता है।

ये जिंदगी भगवान् का अमूल्य वरदान हैं इसे व्यर्थ ना गवाओ।”

करते हो अगर खुदा की इबादत तो खुदा पर भरोसा जरुर रखना, ऐसा ना हो जुबा पे खुदा का नाम हो और दिल में यकीं ना हो।

भगवान् हर जगह हैं इसलिए आप सब जगह प्रार्थना कर सकते हैं।

धर्म का उद्देश्य मनुष्य को रास्ता भटकने से बचाना है।

जो मनुष्य जीवन में सत्य का मार्ग चुनता हैं उसका सफ़र मुझ (ईश्वर) तक पहुँचकर ही समाप्त होता हैं.

अगर आपकी समस्या एक जहाज की तरह बड़ी हैं तो भूलें नही कि प्रभु की कृपा सागर जितनी विशाल हैं.

प्रभु हमें वैसे ही देते हैं जैसे गेहूँ देता हैं, हम एक कण बोते हैं और सौ कण पाते हैं.

मेहनत मेरी – रहमत तेरी का भाव रखने वाले ईश्वर की कृपा प्राप्त करते हैं, दवा के साथ दुआ और क्रिया के साथ कृपा हमेशा अच्छे परिणाम देते हैं.

हर क्रिया में प्रभु का आभार माने फिर प्रभु आपकी राह आसान कर देंगे.

प्रभु की सबसे अच्छी प्रार्थना तब होती हैं जब हम प्रभु की अच्छाईयों की अनुरूप अपने आपको ढाल लेते हैं.

अगर हमें प्रभु में विश्वास हैं तो चाहे हम पहाड़ की चोटी से लडखडायें, फिर भी प्रभु हमें गिरने नही देंगे…या तो प्रभु हमे अपनी बाहों में थाम लेंगे या फिर उड़ने के लिए पंख दे देंगे.

मुझे क्या मिलेगा की अपेक्षा मैं क्या दे सकता हूँ – यह भाव महान हैं.

उठो और शुक्रिया करो भगवान् का जिसने एक और सुबह दी हैं.

धार्मिक विचार हिंदी में | Dharmik Vichar in Hindi

दुनियाँ पर किया गया भरोसा तो टूट सकता हैं लेकिन दुनियाँ के मालिक पर किया गया भरोसा कभी नही टूटता हैं.

जब हम सच्चे मन से प्रभु को खोजते है तो प्रभु अपनी मौजूदगी का अहसास हमें जरूर करवायेंगे.

ख़ुश वह होता हैं जिसने प्रभु में विश्वास रखा हो.

प्रभु हर जगह हैं इसलिए आप सब जगह प्रार्थना कर सकते हैं.

जब आप भगवान् से शक्ति माँगते हैं, तो वह आपको कठिनाईयों में डाल देता हैं, ताकि आपकी हिम्मत बढ़े और आप शक्तिशाली बने.

प्रभु को जानो, शांति को जानो.

हम तब तक हर तूफ़ान का सामना कर सकते हैं जब तक हमारा विश्वास प्रभु में हैं.

धार्मिक सुविचार इन हिंदी | Devotional Quotes in Hindi

घोर विपदा के समय सिर्फ प्रभु ही हमारे रक्षक होते है.

श्रद्धा का अर्थ है आत्म विश्वास और आत्म विश्वास का अर्थ हैं ईश्वर में विश्वास.

हर सुबह उठो और भगवान् का
शुक्रिया करो जिसने एक और सुबह दी हैं।

हम भारतीय सभी धर्मों के प्रति केवल
सहिष्णुता में ही विश्वास नहीं करते ,
वरन सभी धर्मों को सच्चा
मानकर स्वीकार भी करते हैं

धर्म मतवाद या बौद्धिक तर्क में नहीं है,
वरन् आत्मा की ब्रह्यस्वरूपता को जान लेना,
तदरुप हो जाना और उसका साक्षात्कार, यही धर्म है।

हर क्रिया में भगवान का आभार माने
फिर भगवान आपकी राह आसान कर देंगे।

जिस समाज में धार्मिक व्यक्ति निवास करते हैं
वहां अधर्म अपने आप समाप्त हो जाता है।

धर्म व्यक्ति के मष्तिष्क से मोह-माया को
समाप्त कर उन्हें जीवन के
निर्मल अर्थ से अवगत कराता है।

Dharmik quotes in hindi | धार्मिक सुविचार

मनुष्य की धार्मिक वृत्ति
ही उसकी सुरक्षा करती है

धार्मिक वृत्ति बनाये रखने वाला व्यक्ति
कभी दुखी नहीं हो सकता और धार्मिक
वृत्ति को खोने वाला कभी सुखी नहीं हो सकता.

धार्मिक व्यक्ति दुःख को
सुख में बदलना जानता है

धर्म अत्यंत छोटा शब्द है
परन्तु इसका अर्थ अत्यंत विस्तृत है।

कहते हैं कि धर्म के बिना
इंसान लगाम के बिना घोड़े की तरह है.

अहिंसा ही धर्म है,
वही जिंदगी का एक रास्ता है

धर्म की उत्पत्ति मानव कल्याण के
लिए हुई है मानव हानि के लिए नहीं।

व्यक्ति एवं समाज इन दोनों के
लिये धर्म आवश्यक है।

धर्मरहित विज्ञान लंगडा है,
और विज्ञान रहित धर्म अंधा।

वह व्यक्ति जो दयालु है
अपने धर्म का पालन अच्छे से कर रहा है।

लोगों की ख़ुशी के लिए
पहली आवश्यकता धर्म का अंत है.

अपने कर्त्तव्य का ईमानदारी से
पालन करना ही अपने धर्म को निभाना है।

धर्म मानव मस्तिष्क जो न
समझ सके उससे निपटने की नपुंसकता है.

मानव धर्म सभी धर्मों से ऊपर है।

मेरा जन्म नहीं हुआ है;
भला मेरा जन्म या मृत्यु कैसे हो सकती है.

भगवान प्रत्येक वस्तु में है
और सबके ऊपर भी

एक धर्मात्मा वही है जो परमात्मा
को अपनी सम्पूर्ण आत्मा से माने।

मेरा धर्म बहुत सरल है.
मेरा धर्म दयालुता है.

प्रार्थना करो ना केवल इसलियें की
आपकों कुछ जरुरत हैं, पर इसलिए की
आप शुक्रगुजार हैं जो कुछ आपके पास हैं।

किसी को उसके धर्म का
पालन करने से रोकना सबसे बड़ा अधर्म है।

मैं ऐसे धर्म को मानता हूँ
जो स्वतंत्रता , समानता ,
और भाई -चारा सीखाये



Hindibhajan is a one-stop destination for Hindu devotional content, offering a vast collection of Aarti lyrics, Mantras, Stotras, and Chalisas. The website caters to spiritual seekers and devotees, providing easy access to a rich repository of sacred hymns and chants in Hindi.