मगन है राम धुन में जो Magan Me Hai Ram Dhun Me Jo Lyrics – Manoj Mishra

Magan Me Hai Ram Dhun Lyrics in Hindi and English. This sung is by Manoj Mishra, written by Shardul Rathood and music created by Samuel Paul.

Magan Me Hai Ram Dhun Lyrics

Hanuman Hindi Bhajan: Magan Me Hai Ram Dhun
Singer: Manoj Mishra
Lyrics: Shardul Rathood
Music: Samuel Paul
Music Label : Wings Music

Magan Me Hai Ram Dhun Lyrics in English



Sabhi devon se is sansar mein
Ek dev pyara hai
Wo deeno hino aur dukhiyon ka
Bas ek sahara hai
Jo pal mein door kar deta hai
Sankat naam japne se
Pawansut Kesari nandan
Wo Bajrangi hamara hai
Wo Bajrangi hamara hai॥

Magan hai Ram dhun mein jo
Bhagat unka niraala hai
Kare sab door sankat jo
Anjani maan ka laala hai
Magan hain Ram dhun mein jo
Bhagat unka niraala hai॥

“Kyonki ek baar jo Hanuman ji ki sharan mein aa gaya
Bin mange hi wo sab kuch Hanumat se pa gaya
Daulat mili shauhrat mili dukh door ho gaye
Bajrangi laal ka daras kismat jaga gaya”

Mere Hanuman ke jaisa
Nahi koi dev nyara hai
Sharan mein aa gaya jo bhi
Use Hanumat ne sambhala hai
Magan hain Ram dhun mein jo
Bhagat unka niraala hai॥

Jai Jai Jai Hanuman
Jai Jai Jai Hanuman
Jai Jai Jai Hanuman
Jai Jai Jai Hanuman

“Kyonki gidgidakar jisne jo bhi inse manga hai
Iccha hui poorn naseeba uska jaga hai
Badhaen uski raahon se pal mein hui hai door
Hanuman ki bhakti mein mann jo uska laga hai”

Sune vinti sabhi ki jo bhi inko
Yaad karta hai
Har ek sankat mere Bajrangi ne
Bhakton ka tala hai
Magan hain Ram dhun mein jo
Bhagat unka niraala hai॥

“Bhakton koi na sune teri sada to sunte hain Hanuman
Bin mange bhi bhakton de dete hain ye vardaan
Rehta sada sukhi hai Bala ji ka yahan bhakt
Charanon mein aane wale ka ho jata kalyaan”

Jhukakar sheesh charanon mein
Sunaya haal jisne bhi
Bhare bhandar khushiyon se
Mera Bajrangi bala hai
Magan hain Ram dhun mein jo
Bhagat unka niraala hai॥

Jai Jai Jai Hanuman
Jai Jai Jai Hanuman
Jai Jai Jai Hanuman
Jai Jai Jai Hanuman

“Bhakton ke vash mein sada hi Bhagwan hote hain
Jaan le bhed jo itna wo bhakt mahaan hote hain
Jaankar jo na sumir paaye hin Bajrangbali ko
Wo hi sansar mein sabse bade naadaan hote hain”

Deewani Ram ki duniya
Ram jinke deewane hain
Musibat se Prabhu Shri Ram ko
Pal mein nikala hai
Magan hain Ram dhun mein jo
Bhagat unka niraala hai॥

“Karne ko bhakti inki jo bhi thaan lete hain
Peedaen tab wo bhakton ki sab jaan lete hain
Mukti dila dete hain kshan mein sabhi dukhon se
Apne sabhi bhakton ko jab ye sharan lete hain”

Nahi vidwan koi hai
Mere Hanumat sa duniya mein
Jahan Hanuman hai wahan gyan ka
Phaila ujala hai
Magan hain Ram dhun mein jo
Bhagat unka niraala hai॥

Magan hain Ram dhun mein jo
Bhagat unka niraala hai
Kare sab door sankat jo
Anjani maan ka laala hai
Magan hain Ram dhun mein jo
Bhagat unka niraala hai

ek baar jo Hanuman ji ki sharan mein aa gaya

More Hanuman Hindi Bhajan

मगन है राम धुन में जो लिरिक्स हिन्दी में

सभी देवों से इस संसार में
एक देव प्यारा है
वो दीनो हिनो और दुखियों का
बस एक सहारा है
जो पल में दूर कर देता है
संकट नाम जपने से
पवनसुत केसरी नंदन
वो बजरंगी हमारा है
वो बजरंगी हमारा है॥

मगन है राम धुन में जो
भगत उनका निराला है
करे सब दूर संकट जो
अंजनी माँ का लाला है
मगन हैं राम धुन में जो
भगत उनका निराला है॥

“एक बार जो हनुमान जी की शरण में आ गया
बिन मांगे ही वो सब कुछ हनुमत से पा गया
दौलत मिली शौहरत मिली दुःख दूर हो गए
बजरंगी लाल का दरस किस्मत जगा गया”

मेरे हनुमान के जैसा
नहीं कोई देव न्यारा है
शरण में आ गया जो भी
उसे हनुमत ने संभाला है
मगन हैं राम धुन में जो
भगत उनका निराला है॥

जय जय जय हनुमान
जय जय जय हनुमान
जय जय जय हनुमान
जय जय जय हनुमान

“गिडगिडाकर जिसने जो भी इनसे माँगा है
इच्छा हुई पूर्ण नसीबा उसका जागा है
बढ़ाएं उसकी राहो से पल में हुई है दूर
हनुमान की भक्ति में मन जो उसका लागा है”

सुने विनती सभी की जो भी इनको
याद करता है
हर एक संकट मेरे बजरंगी ने
भक्तो का टाला है
मगन हैं राम धुन में जो
भगत उनका निराला है॥

“भक्तों कोई न सुने तेरी सदा तो सुनते हैं हनुमान
बिन मांगे भी भक्तों दे देते हैं ये वरदान
रहता सदा सुखी है बाला जी का यहाँ भक्त
चरणों में आने वाले का हो जाता कल्याण”

झुकाकर शीश चरणों में
सुनाया हाल जिसने भी
भरे भंडार खुशियों से
मेरा बजरंगी बाला है
मगन हैं राम धुन में जो
भगत उनका निराला है॥

जय जय जय हनुमान
जय जय जय हनुमान
जय जय जय हनुमान
जय जय जय हनुमान

“भक्तों के वश में सदा ही भगवान होते हैं
जान ले भेद जो इतना वो भक्त महान होते हैं
जानकर जो न सुमिर पाए हिं बजरंगबली को
वो ही संसार में सबसे बड़े नादान होते हैं”

दीवानी राम की दुनिया
राम जिनके दीवाने हैं
मुसीबत से प्रभु श्री राम को
पल में निकाला है
मगन हैं राम धुन में जो
भगत उनका निराला है॥

“करने को भक्ति इनकी जो भी ठान लेते हैं
पीडाएं तब वो भक्तों की सब जान लेते हैं
मुक्ति दिला देते हैं क्षण में सभी दुखों से
अपने सभी भक्तों को जब ये शरण लेते हैं”

नहीं विद्वान कोई है
मेरे हनुमत सा दुनिया में
जहाँ हनुमान है वहाँ ज्ञान का
फैला उजाला है
मगन हैं राम धुन में जो
भगत उनका निराला है॥

मगन हैं राम धुन में जो
भगत उनका निराला है
करे सब दूर संकट जो
अंजनी माँ का लाला है
मगन हैं राम धुन में जो
भगत उनका निराला है



Hindibhajan is a one-stop destination for Hindu devotional content, offering a vast collection of Aarti lyrics, Mantras, Stotras, and Chalisas. The website caters to spiritual seekers and devotees, providing easy access to a rich repository of sacred hymns and chants in Hindi.